न्यायमूर्ति संजीव खन्ना ने समलैंगिक विवाह मामले की सुनवाई से अचानक खुद को अलग कर लिया और अब मुख्य न्यायाधीश चंद्रचूड़ एक नई पीठ का गठन करेंगे।



मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली 5-न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने पिछले साल 17 अक्टूबर को समलैंगिक विवाह को वैध बनाने से इनकार कर दिया था।

Leave a Comment