UPI से 49k, 2 घंटे बाद आई मौत की खबर, कुलगाम के शहीद की कहानी



प्रवीण द्वितीय महार रेजिमेंट में शामिल हुए और बाद में राष्ट्रीय राइफल्स का हिस्सा बने। उनके चचेरे भाई ने कहा, ‘कश्मीर में पद संभालने से पहले प्रवीण ने अरुणाचल प्रदेश में भी काम किया था.

Leave a Comment